22 October 2015

लडभड़ोल में कारगिल शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि, क्षेत्र के इन सैनिकों ने लिया था भाग

लडभड़ोल : लडभड़ोल में रविवार को कारगिल विजय दिवस पर कारगिल शहीदों को याद किया गया। एक्स सर्विस मेन लीग लड़भड़ोल कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि दी। एक्स सर्विस मेन लीग लड़ भड़ोल के प्रधान प्रवीण शर्मा ने कहा की कारगिल का युध भारतीय सेना के पराक्रम को दर्शाता है।

शहीद नाइक मेहर सिंह को किया याद
यह युद्ध 15000 से 18000 फुट की ऊंचाई पर लड़ा गया था यह विश्व में सबसे ऊंचाई पर लड़ा गया युध था। इस युद्ध में भारतीय सेना के 527 सेनिकों ने वीरगति प्राप्त की थी। इस युद्ध में लड़भड़ोल तहसील क्षेत्र के भी कई भारतीय सैनिकों ने भाग लिया था। इस युद्ध में तहसील क्षेत्र लड़भड़ोल के गागल गाँव के नाइक मेहर सिंह ने वीरगति प्राप्त की थी। कारगिल विजय दिवस के मोके पर एक्स सर्विस मेन लीग के सदस्यों ने शहीद नाइक मेहर सिंह को याद् किया और उन्हें श्रधांजलि भी दी।

फनेहड निवासी सैनिक हुआ था घायल
वर्ष 1999 में लड़े गए इस युद्ध में लडभड़ोल क्षेत्र के फनेहड गांव के निवासी जगदीश चंद राणा बुरी तरह घायल हुए थे। युद्ध में घायल होने के बाद उनके 80% शरीर में गोलियां लगी थी। हालाँकि उसके बाद उनकी हालत में सुधार हुआ और वह अभी भी भारतीय सेना में बतौर सूबेदार अपनी सेवाएं दे रहे है।

लडभड़ोल क्षेत्र के इन सैनिकों ने लिया था भाग
तहसील क्षेत्र लड़भड़ोल के प्रत्येक गाँव से लोग भारतीय सेना में हैं l कारगिल युद्ध की यादों को साँझा करते हुए लड़भड़ोल के बलहड़ा– राख गाँव के कैप्टन विनोद कुमार ने बताया की वह उस वक्त द्रास में टाइगर हिल्स के पास तेनात थे। वह नहीं इस युद्ध में जख्मी हुए थे। इसी प्रकार सांढा गांव निवासी कैप्टन जगदीश ठाकुर तथा सिमस गाँव से सूबेदार प्रताप जसवाल भी इस कारगिल युद्ध का हिस्सा रहे हैं। लड़भड़ोल के बेहड़लु गाँव के कैप्टन कश्मीर सिंह और कैप्टन प्रकाश चन्द ने भी बताया की वे उस वक्त दरास सेक्टर पर तैनात थे।

प्रकाश राणा ने भी याद किये कारगिल शहीद
उन्होंने कहा की उन्हें आज भी याद है की किस तरह भारतीय फोजों ने टाइगर हिल्स, तोलोलिंग की पहाड़ियों और अन्य चोटियों पर कब्ज़ा कर तिरंगा लहराया था। कारगिल युद्ध को याद करते वक्त जहाँ इस वीर सेनिकों की आखों में जोश दिखा वहीं इनकी आखों में इस युद्ध में अपनों के खोने का दर्द भी झलका। वहीं जोगिन्दरनगर विधायक प्रकाश राणा ने भी कारगिल शहीदों को याद किया और कहा की वह भी सेनिक परिवार से सबंध रखते है। उन्होंने कहा की उन्हें पता है की एक फौजी किस तरह अपने परिवार को पीछे छोड़ देश की रक्षा के लिए सरहद पर जाता है ल उन्होंने कहा की उन्हें भारतीय सेना पर गर्व है।

फोटो में कैप्टन कश्मीर सिंह (कारगिल योधा ), कैप्टन विनोद कुमार (कारगिल योधा ), कैप्टन जगदीश ठाकुर (कारगिल योधा ), जगदीश चंद राणा (घायल योद्धा)









loading...
Post a Comment Using Facebook