BREAKING
  • लडभड़ोल-ऊटपुर सड़क पर भ्रां के पास हादसा, वाहन को पास देते समय सड़क से लुढकी जेसीबी
  • लडभड़ोल/तुलाह : पिता पेशे से किसान और खुद बेरोजगार। दिल में उमंग थी तो सेना में अफसर बनकर देशसेवा करने की ठानी। नियति को शायद उस वक्त यह मंजूर नहीं था। इस वजह से अधिकारी तो नहीं, लेकिन वर्ष 2008 सेना में सिपाही के पद पर भर्ती हो गए। सैनिक तो बन गए थे लेकिन सपना नहीं छोड़ा और पढ़ाई जारी रखी। मेहनत रंग लाई और एसएसबी क्लियर करने के बाद अब अपने गांव कोठी आएंगे तो लेफ्टिनेंट बनकर।

    सिपाही से लेफ्टिनेंट बने जिगनेश
    जी हां, लडभड़ोल तहसील की तुलाह पंचायत के कोठी गांव के जिगनेश सेना में लेफ्टिनेंट बने हैं। कोठी के गांव के इस होनहार युवा के चयन से इलाके में खुशी का माहौल है। जिगनेश कुमार चंदेल के पिता नानक चंद घर में खेतीबाड़ी व मजदूरी का काम करते हैं और माता लीला देवी गृहिणी हैं। जिगनेश ने 12वीं तक की शिक्षा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला लांगणा से हासिल की है। इसके बाद स्नातक की डिग्री उन्होंने बैजनाथ से ली। वह 2008 में ईएमई सेना में बतौर टेक्नीशियन भर्ती हुए थे। एसएसबी की चयन प्रक्रिया में सफल होने के बाद आफिसर ट्रेनिंग अकादमी गया में उन्हें एक साल की ट्रेनिंग दी गई।

    कभी नहीं मानी हार
    यह बात कहने में जितनी सरल लग रही है उतनी आसान नहीं है। जिगनेश ने कई बार अफसर बनने के लिए परीक्षा दी लेकिन पास नहीं कर पाए। इसके बावजूद हार नहीं मानी और फिर जब एक बार कदम बढ़े तो वो फिर कैसे रुकते। जिगनेश को हाल ही में परेड के बाद स्टार लगाए गए। इस मौके पर गांव से उनके माता-पिता भी पहुंचे थे। सिपाही भर्ती हुए बेटे को अपने सामने अफसर की वर्दी में देखकर परिजनों का सीना गर्व से ऊंचा हो गया। वह बचपन से ही मेधावी रहे हैं।

    8 साल काम करने के बाद सेना में अफसर बने जिग्नेश
    जिगनेश ने सेना में जवान के तौर पर 8 साल काम करने के बाद सेना में अफसर बनने का अवसर पाया है। उसने पुर भारत में कई जगहों पर अपनी पलटन के साथ काम किया है। ऐसा भी नहीं है कि जिगनेश को अफसर बनने की तैयारी के लिए कोई छूट मिली हो बल्कि उसने सारी जिम्मेदारी निभाते हुए जो वक़्त मिला उस दौरान उसने मेहनत की और नतीजा सबके सामने है। जिगनेश की इस उपलब्धि पर परिजनों व समस्त लडभड़ोल क्षेत्र में खुशी का माहौल है।

    देखें : पासिंग आउट परेड की कुछ तस्वीरें

    • लेफ्टिनेंट जिग्नेश चंदेल
    • पासिंग आउट परेड के दौरान
    • अपने परिवार के साथ जिग्नेश
    "
    पिछली खबर अगली खबर

    अपनी राय दें

    लडभड़ोल की अन्य ताजा खबरें

    लेख

    सबसे अधिक पढ़ी गई खबरें


    महत्वपूर्ण नोट : इस वेबसाइट पर दिखाई जाने वाली खबरों का उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ लडभड़ोल व आसपास के क्षेत्रों में होने वाली घटनाओ की सुचना लोगों तक पहुंचाना है नाकि किसी की भावनाओ को आहत करना। हमे पूरा यकीन है की इस वेबसाइट पर दिखाई जाने वाली खबरों को सुचना के आदान-प्रदान करने के उदेश्य से ही पढ़ा जायेगा। इस वेबसाइट को उपयोग करने के लिए हमारी नियम और शर्ते जरूर पढ़ ले। अगर आप इन शर्तों से सहमत नही है तो इस वेबसाइट का उपयोग न करे। धन्यवाद। :- अमित बरवाल, संस्थापक, लडभड़ोल.कॉम 


    Designed and Developed by Amit Barwal  (Ootpur)