BREAKING
  • लडभड़ोल क्षेत्र में कई दिनों बाद निकली धूप, मौसम हुआ एकदम साफ़, लोगों को मिली भारी बारिश से राहत
  • लडभड़ोल : लडभड़ोल क्षेत्र की ब्यास नदी पर बने रोपवे में बुधवार को हुए हादसे के बाद स्थानीय प्रशासन ने इसे असुरक्षित घोषित करते हुए आवाजाही पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। रोपवे के दोनों और चेतावनी बोर्ड स्थापित करने के साथ-साथ दोनों छोरों पर लोक निर्माण विभाग के मजदूर तैनात करने के आदेश दिए हैं। करीब पांच वर्ष पहले लोक निर्माण विभाग के यांत्रिक अनुभाग के द्वारा करीब 32 लाख की लागत से रोपवे का निर्माण किया था। रोपवे के दोनों छोरों पर विभाग के मजदूर इलेक्ट्रिक तकनीक से रोपवे में दो ट्रॉलियों के आवागमन के लिए तैनात कर रखा है।

    सड़क से चार घंटे का सफर :

    चार से छह व्यक्तियों की क्षमता वाले रोपवे की ट्रोली में रोजाना 60 से 100 लोगों का आवागमन रहता है। इनमें बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे शामिल है। विधानसभा क्षेत्र जोगेंद्रनगर और धर्मपुर के लोगों के लिए यह रोपवे संजीवनी साबित हुआ है। बस व अन्य विकल्पों से गांववासियों को अपने गंतव्य में पहुंचने के लिए जो सफर तीन से चार घंटे में पूरा करना पड़ता था। वही सफर रोपवे से महज पांच से आठ मिनट में पूरा हो जाता था।

    एक सप्ताह में होगी मरम्मत :

    स्थानीय प्रशासन ने लोक निर्माण विभाग को एक सप्ताह के भीतर रोपवे को यथास्थिति बहाल करने के आदेश पारित किए हैं। जिस पर विभागीय इंजीनियरों ने काम करना भी शुरू कर दिया है।

    रोपवे की मरम्मत पर उठे सवाल, जांच शुरू :

    रोपवे के रस्सी के अचानक टूट जाने पर अब रोपवे की मुरम्मत पर भी सवाल उठने शुरू हो चुके हैं। थाना प्रभारी संजीव कुमार के नेतृत्व में पुलिस चोकी लडभड़ोल की टीम साक्ष्य जुटाने में लगी है। परियोजना के सुरक्षाकर्मी के बयान कलमबद्ध कर आगामी छानबीन शुरू कर दी है। हालांकि लोक निर्माण विभाग के यांत्रिक अनुभाग के अधिकारी इसे महज हादसा मान रहे हैं।

    रोपवे में किसी भी प्रकार की गतिविधि पर प्रतिबंध लगाकर सबंधित विभाग को एक सप्ताह के भीतर यथास्थिति बहाल करने के आदेश पारित किए हैं। दोनों छोर पर चेतावनी बोर्ड और सुरक्षा के चलते विभागीय मजदूरों को तैनात करने के आदेश भी दिए गए हैं।

    अमित मेहरा एसडीएम जोगेंद्रनगर।

    ----- हादसे पर संबंधित विभाग एवं ट्रॉली में फंसे व्यक्ति के बयान कलमबद्ध कर आगामी छानबीन शुरू की गई है। मौके पर साक्ष्य जुटाकर हादसे के कारण का पता लगाया जा रहा है।

    संजीव कुमार, थाना प्रभारी, जोगेंद्रनगर।

    "
    पिछली खबर अगली खबर

    अपनी राय दें

    लडभड़ोल की अन्य ताजा खबरें

    लेख

    सबसे अधिक पढ़ी गई खबरें


    महत्वपूर्ण नोट : इस वेबसाइट पर दिखाई जाने वाली खबरों का उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ लडभड़ोल व आसपास के क्षेत्रों में होने वाली घटनाओ की सुचना लोगों तक पहुंचाना है नाकि किसी की भावनाओ को आहत करना। हमे पूरा यकीन है की इस वेबसाइट पर दिखाई जाने वाली खबरों को सुचना के आदान-प्रदान करने के उदेश्य से ही पढ़ा जायेगा। इस वेबसाइट को उपयोग करने के लिए हमारी नियम और शर्ते जरूर पढ़ ले। अगर आप इन शर्तों से सहमत नही है तो इस वेबसाइट का उपयोग न करे। धन्यवाद। :- अमित बरवाल, संस्थापक, लडभड़ोल.कॉम 


    Designed and Developed by Amit Barwal  (Ootpur)